विभागों में लापरवाही बरतने वाले आला अधिकारियों को बख्शा नहीं जाएगा कड़ी कार्यवाही होगी : हर्षिका सिंह 

👉🏻कलेक्टर साहिबा ने तहसील जनपद पंचायत सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का औचक निरीक्षण किया   

 सददाम राईन पलेरा :- टीकमगढ़ कलेक्टर हर्षिका सिंह ने तहसील एवं समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र और  जनपद पंचायत पलेरा का किया औचक निरीक्षण जिसमें टीकमगढ़ कलेक्टर हर्षिका सिंह और जतारा एसडीएम  सौरभ सोनवणे रहे मौजूद सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में पलेरा बीएमओ राकेश कुमार को दिए गए दिशा निर्देश एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के सभी वार्डों में जाकर किया गया निरीक्षण मरीजों से जाना उनका हाल और वही कलेक्टर हर्षिका सिंह ने पलेरा  नगर परिषद सीएमओ मुरलीधर शुक्ला को दिए आदेश की जल्द से जल्द घुमक्कड़ जाति के लोगों  को आवास मुहैया कराए जाएं कलेक्टर हर्षिका सिंह ने पलेरा आकर जहां तहसील कार्यालय का औचक निरीक्षण किया है तो वहीं सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का जायजा लिया है तो वहीं नगर परिषद पलेरा और जनपद पंचायत पलेरा का भी और औचक निरीक्षण किया है और लापरवाह आला अधिकारियों को निर्देश किया है यदि लापरवाही बरती गई तो सख्त से सख्त कार्यवाही की जाएगी तो वही कलेक्टर ने बताया कि जिन हितग्राहियों को प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ नहीं मिला है और प्रधानमंत्री आवास योजना से वंचित रह गए हैं उनको नेक्स्ट टाइम में प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ दिया जाएगा जो हितग्राही प्रधानमंत्री आवास योजना से वंचित है उनको शत प्रतिशत लाभ दिया जाएगा जो भी आला अधिकारी लापरवाही बरते पाए गए तो उनके खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जाएगी शासन की मंशा अनुसार सभी विभागों में पदस्थ आला अधिकारी अपने कर्तव्य को बखूबी से निर्वहन करें वरना उनके खिलाफ मेरे द्वारा सख्त कार्रवाई की जाएगी  कोरोना वायरस के संबंध में कलेक्टर  ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पलेरा के बीएमओ सहित डॉक्टरों को दिशा निर्देश दिए हैं और सार्थकता एवं सावधानी के गुर सिखाए हैं

 

कलेक्टर श्रीमती हर्षिका सिंह द्वारा मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ एमके प्रजापति एवं सिविल सर्जन डॉ अमित  जिला स्तर पर आवश्यक सावधानियाँ बरतने एवं सतर्कता बनाये रखने हेतु निर्देशित किया गया।कोरोना वायरस के परिप्रेक्ष्य में दिये गये निर्देशों के क्रम में आज समस्त विभाग प्रमुखों को अवगत कराया गया। कलेक्टर श्रीमती सिंह ने नोवल कोरोना वायरस के लक्षण बचाव एवं उपचार से जनसाधारण को अवगत कराने एवं स्कूल तथा उच्च शिक्षा विभाग के माध्यम से बच्चों में स्वच्छता बनाये रखने के निर्देश दिये। कलेक्टर श्रीमती हर्षिका सिंह की अध्यक्षता में जिला एपिडेमियोलॉजिस्ट श्री नबील सिददीकी ने विभागीय अधिकारियो को नोवल कोरोना वायरस के संबंध में आवश्यक जानकारी एवं जिले में स्वास्थ्य विभाग की तैयारियों की जानकारी दी। बैठक में आयुष अधिकारी डॉ एके उपाध्याय ने रोग प्रतिरोधक क्षमता आयुर्वेद के माध्यम से कैसे बनाये रखी जाये इस संबंध में अवगत कराया।

क्या है कोरोना वायरस ?

कोरोना वायरस ( COVID – 19 ) का संबंध वायरस के ऐसे परिवार से है, जिसके संक्रमण से जुकाम से लेकर सांस लेने में तकलीफ जैसी समस्या हो सकती है। इस वायरस को पहले कभी नहीं देखा गया है। इस वायरस का संक्रमण दिसंबर में चीन के वुहान में शुरू हुआ था। डब्लूएचओ के मुताबिक, बुखार, खांसी, सांस लेने में तकलीफ इसके लक्षण हैं। अब तक इस वायरस को फैलने से रोकने वाला कोई टीका नहीं बना है।

क्या हैं इस बीमारी के लक्षण ?

इसके संक्रमण के फलस्वरूप बुखार, जुकाम, सांस लेने में तकलीफ, नाक बहना और गले में खराश जैसी समस्या उत्पन्न होती हैं। यह वायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलता है। इसलिए इसे लेकर बहुत सावधानी बरती जा रही है। यह वायरस दिसंबर में सबसे पहले चीन में पकड़ में आया था। इसके दूसरे देशों में पहुंच जाने की आशंका जताई जा रही है।

क्या है इससे बचाव के उपाय?

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोरोना वायरस से बचने के लिये दिषा निर्देश जारी किये हैं, इनके मुताबिक, हाथों को साबुन से धोना चाहिये, अल्कोहल आधारित हैंड रब का इस्तेमाल भी किया जा सकता है, खांसते और छींकते समय नाक और मुंह रूमाल या टिश्यू पेपर अथवा कोहनी से ढककर रखें, जिन व्यक्तियों में कोल्ड और फ्लू के लक्षण हों उनसे दूरी बनाकर रखें, अंडे और मांस के सेवन से बचें, जंगली जानवरों के संपर्क में आने से बचें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *